+91-8882981888

26 जनवरी क्यों मनाया जाता है ?


26 जनवरी क्यों मनाया जाता है ?

If you like this post, Please Share it.

26 जनवरी क्यों मनाया जाता है ? : 'गणतंत्र दिवस' भारत का राष्ट्रीय पर्व

प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाने वाला गणतंत्र दिवस, भारत का राष्ट्रीय पर्व है, जिसे प्रत्येक भारतवासी पूरे उत्साह, जोश और सम्मान के साथ मनाता है। राष्ट्रीय पर्व होने के नाते इसे हर धर्म, संप्रदाय और जाति के लोग मनाते हैं।


गणतंत्र दिवस : 26 जनवरी सन 1950 को हमारे देश को पूर्ण स्वायत्त गणराज्य घोषित किया गया था और इसी दिन हमारा संविधान लागू हुआ था। यही कारण है कि प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को भारत का गणतंत्र दिवस मनाया जाता है और चूंकि यह दिन किसी विशेष धर्म, जाति या संप्रदाय से न जुड़कर राष्ट्रीयता से जुड़ा है, इसलिए देश का हर बाशिंदा इसे राष्ट्रीय पर्व के तौर पर मनाता है।

खास तौर से सरकारी संस्थानों एवं शिक्षण संस्थानों में इस दिन ध्वजारोहण, झंडा वंदन करने के पश्चात राष्ट्रगान जन-गन-मन का गायन होता है और देशभक्ति से जुड़े विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

देशाक्ति गीत, भाषण, चित्रकला एवं अन्य प्रतियोगिताओं के साथ ही देश के वीर सपूतों को याद भी किया जाता है और वंदे मातरम, जय हिन्दी, भारत माता की जय के उद्घोष के साथ पूरा वातावरण देशभक्ति से ओतप्रोत हो जाता है।

भारत की राजधानी दिल्ली में गणंतंत्र दिवस पर विशेष आयोजन होते हैं। देश के प्रधानमंत्री द्वारा इंडिया गेट पर शहीद ज्योति का अभिनंदन करने के साथ ही उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए जाते हैं।


इस दिन विशेष रूप से दिल्ली के विजय चौक से लाल किले तक होने वाली परेड आकर्षण का प्रमुख केंद्र होती है, जिसमें देश और विदेश के गणमान्य जनों को आमंत्रित किया जाता है। इस परेड में तीनों सेनाओं के प्रमुख राष्ट्रीपति को सलामी दी जाती है एवं सेना द्वारा प्रयोग किए जाने वाले हथियार, प्रक्षेपास्त्र एवं शक्तिशाली टैंकों का प्रदर्शन किया जाता है एवं परेड के माध्यम से सैनिकों की शक्ति और पराक्रम को बताया जाता है।

गांव से लेकर शहरों तक, राष्ट्रभक्ति के गीतों की गूंज सुनाई देती है और प्रत्येक भारतवासी एक बार फिर अथाह देशभक्ति से भर उठता है। बच्चों में इस दिन को लेकर बेहद उत्साह होता है। इस दिन आयोजित कार्यक्रमों में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थ‍ियों का सम्मान एवं पुरस्कार वितरण भी किया जाता है और मिठाई वितरण भी विशेष रूप से होता है।

Inspirational Republic Day Quotes in Hindi
Republic Day Slogans

1. मुकुट हिमालय
हृदय में तिरंगा
आँचल में गंगा लायी है
सब पुण्य, कला और
रत्न लुटाने देखो
भारत माता आयी है…..
भारत माता की जय…

2. देशभक्तों के बलिदान से
स्वतन्त्र हुए हैं हम
कोई पूछे कौन हो तो
गर्व से कहेंगे भारतीय हैं हम

3. आओ झुक कर सलाम करें उनको
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है
खुशनसीब होता है वो खून
जो देश के काम आता है

4. आज सलाम है उन वीरों को
जिनके कारण ये दिन आता है
वो माँ भी खुशनसीब होती है
बलिदान जिसके बच्चों का देश के काम आता है

5. कुछ नशा तिरंगे की आन का है
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है
हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है

6. ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई
लेकिन वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता
नोटों में लिपटकर, सोने में सिमट कर मरे हैं कई
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

7. कतरा कतरा दे दूंगा अपने वतन के लिए
रात और दिन बॉर्डर पर पहरा दूंगा अपने वतन के लिए
ये कुर्बानी है मेरी मेरे देश के लिए
जरुरत आने पर अपनी जान भी दूंगा अपने वतन के लिए

8. सरफ़रोशी की तमन्ना
अब हमारे दिल में है
देखना है जोर कितना बाजु ए कातिल में है

9. वो शमा जो काम आये अंजुमन के लिए,
वो जज़्बा जो क़ुर्बान हो जाये देश के लिए,
रखते हैं हम भी वो हौंसला,
जो मर मिटे हिंदुस्तान के लिए

10. मैं इसका हनुमान हूँ
ये देश मेरा राम है
छाती चीर के देश लो
अंदर बैठा हिंदुस्तान है

11. चढ़ गए जो हंसकर सूली
खायी जिन्होंने सीने पर गोली
हम उनको प्रणाम करते हैं
जो मिट गए देश पर
हम उनको सलाम करते हैं

12. चलो फिर से खुद को जगाते हैं
अनुशासन का डंडा फिर से घुमाते हैं
सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते हैं

13. ये बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना

14. अभी तक मर के देखा बेवफा सनम के लिए
दुपट्टा भी ना मिला कफ़न के लिए
एक बार मरकर देखो वतन के लिए
तिरंगा मिलेगा कफ़न के लिए

15. नहीं सिर्फ जशन मनाना,
नहीं सिर्फ झंडे लहराना,
ये काफी नहीं है वतन पर.
यादों को नहीं भुलाना,
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
खुदा के लिए नहीं,
ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना

Happy Republic Day 2020 !! Jai Hind!!!!

 


.
.

Comments (15)

Urmila chauhan    Sep 25 2022 09:37pm

Very nice blog post how to earn money thanks ji

0    0    Reply    Comments (0)

Shekhar gopi gaonkar .    Sep 02 2022 09:14pm

Blog ke saath slogan's atcha laga . Tum muze khoon do mai tume azadi dunga .

5    3    Reply    Comments (0)

Urmila chauhan    Sep 01 2022 10:34pm

Hum Bharat Ke hai Bharat desh humara hai jan se pyara hai jai hind

0    3    Reply    Comments (0)

Gita Kumari Yadav    Aug 30 2022 11:39pm

This post increases the patriotic feelings in the heart.

4    5    Reply    Comments (0)

Shekhar gopi gaonkar .    Aug 15 2022 07:10pm

26 January kyo manaya jata hai ? Bharat ma aur likhne wale ko mera pranam. Wish you happy independence day.

2    7    Reply    Comments (0)

Urmila chauhan    Aug 14 2022 05:18pm

Jai jai Hindustan amar rahega Tiranga Tirange ki shan Jai Tiranga jai Bharat jai spl pariwar

1    3    Reply    Comments (0)

Gita Kumari Yadav    Aug 09 2022 11:32pm

Excellent post thanks sir.

0    5    Reply    Comments (0)

Anil Sharma    Aug 02 2022 08:22am

Hiii

2    9    Reply    Comments (0)

Mahendra Singh    Aug 01 2022 11:26pm

बहुत ही अच्छा लगा कि इस तरह हम सब एक ही है भारत माता कि जय

1    8    Reply    Comments (0)

Shekhar gopi gaonkar .    Jul 23 2022 04:06pm

Happy republic day ! 2022,jai hind. Deshbhakti ke gane atche lage.

4    3    Reply    Comments (0)

Urmila chauhan    Jul 21 2022 07:08pm

26 january sada yad rahega jaliyanawala bag kabhi bhula na jayega jai hind jai Bharat

13    3    Reply    Comments (0)

Suarabh    Jul 10 2022 06:55am

I love my india

7    3    Reply    Comments (0)

Madhav shinde    Jun 16 2022 10:05pm

Very nice proud of India

19    15    Reply    Comments (0)

Urmila chauhan    May 26 2022 08:43pm

Happy republic day jai hind sare jahan se achha hindustan hamara bahut bahut dhanywad sir

21    7    Reply    Comments (0)

Bohar Singh Munda    May 19 2022 03:13pm

Watan hamara sabhi ka hiy

20    7    Reply    Comments (0)


.

Leave Comments